छत्तीसगढ़ का प्राचीन इतिहास ( Part-2 वैदिक काल )

Chhattisgarh history notes – vaidik-kal वैदिक काल ऋग्वेद में छत्तीसगढ़ का उल्लेख नही है। शतपथ ब्राम्हण में पूर्व व पक्षिम में समुद्र का उल्लेख है। पुराणों में कन्हार नदी को रेणू नदी कहा गया है। उत्तर वैदिक काल में आर्यो का प्रवेश व प्रसार छत्तीसगढ़ में हुआ।    रामायण काल :-  इस काल में विन्ध्य…


छत्तीसगढ़ का प्राचीन इतिहास (Part-1 प्रागैतिहासिक काल)

प्रागैतिहासिक काल प्रागैतिहासिक काल में पूर्ण पाषाण काल, मध्य पाषाण काल, उत्तर पाषाण काल और नव पाषाण काल को शामिल किया गया है 1. पूर्ण पाषाण काल :-  ● इस काल के प्रमाण – छ. ग. के रायगढ़ के सिघंपुर गुफा से प्राप्त शैल चित्रों से मिला है, ( सिंघनपुर में मानव आकृतिया, सीधी डंडे…


Welcome to cgpsc.info

हमारे एंड्राइड अप्प को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए प्ले स्टोर आइकॉन पर क्लिक करें- धन्यवाद