जानिए अचानकमार वन्यजीव अभ्यारण्य के बारे में


chhattisgarh geography notes in hindi – about Achanakmar Wildlife Sanctuary

अचानकमार वाइल्ड लाइफ अभ्यारण्य छत्तीसगढ़ के प्रसिद्ध अभ्यारण्यों में से एक है। यहां वनभैंसे, बंगाल टाइगर और तेंदुआ जैसे बहुत से जीव पर्यटकों को अपनी ओर आकर्षित करते है। इसके अलावा यहां पर हिरण, लकड़बघा, नील गाय आदि भी पाए जाते हैं। यह बिलासपुर से 55 किमी की दूरी पर स्थित है। अचनकमार एक टाइगर रिज़र्व है इस टाइगर रिज़र्व की स्थापना 1975 में की गई थी| जो यह सिंधु – गंगा मानसून वन के जैव – भौगोलिक प्रांत में वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 के तहत हुआ था| इस टाइगर रिज़र्व का क्षेत्रफल 557.55 वर्ग किलोमीटर है यह टाइगर रिज़र्व जंगल, वन्य जीवन की विविधता को संभाले हुए है| यह टाइगर रिज़र्व बिलासपुर से 55 किलोमीटर की दूरी पर उत्तर पश्चिम में स्थित है| इस टाइगर रिज़र्व में कान्हा-अचनकमार कॉरिडोर है, जो मध्यप्रदेश के टाइगर रिजर्व का एक हिस्सा है।

इस टाइगर रिज़र्व में साल, साजा, बीजा और बांस के पेड़ बहुतायत मात्रा में पाए जाते है| यहाँ पाए जाने वाले जलाशयों में घोंगापानी जलाशय प्रमुख्य है यह जलाशय अभ्यारण्य जाने वाले राश्ते में स्थित है| इसके साथ ही यहाँ यात्रियों के लिए सरकारी अथिति गृह का भी प्रबंध भी है| जो कोएंजी और लमनी के आगे स्थित है| इनमें से लमनी में फॉरेस्‍ट गेस्‍ट हाउस का निर्माण तो ब्रिटिश काल के समय में किया गया था|

इस वन्य जीव अभ्यरण में पाए जाने वाले प्रमुख्य प्राणियों में चीतल, जंगली भालू, तेंदुआ, बाघ पेंथेरा, धारीदार लकड़बग्धा, कैनीस, सियार, सुस्ती भालू, भारतीय जंगली कुत्ता, चीतल एक्सिस अक्ष, चार सींग वाले मृग आदि है इसके अलावा नीलगाय, चिंकारा, कृष्णमृग, जंगली सूअर प्रमुख्य है|

Join Our whatsapp group and download our app for daily notification and updates


Related Post
Welcome to cgpsc.info

हमारे एंड्राइड अप्प को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए प्ले स्टोर आइकॉन पर क्लिक करें- धन्यवाद