chhattisgarh literature and their writer[छत्तीसगढ़ी साहित्यकार तथा उनकी रचनाएँ ]


छत्तीसगढ़ी साहित्यकार तथा उनकी रचनाएँ

गोपाल मिश्र – खूब तमाशा,जैमिनी अश्वमेघ, सुदामा चरित, भक्ति चिंताणी, राम प्रताप

माखन मिश्र – छंद विलास नामक पिंगल ग्रन्थ

रेवाराम बाबू  – रामायण दीपिका, ब्राह्मण स्त्रोत, गीता माधव महाकाव्य, गंगा लहरी, रामाश्वमेघ,विक्रम विलास, रत्न परीक्षा, दोहाबली, माता के भजन, रत्नपुर का इतिहास

प्रह्लाद दुबे – जय चन्द्रिका

पंडित सुंदरलाल शर्मा – छत्तीसगढ़ी दानलीला, काव्यामृतवर्षाणी, राजीव प्रेम-पियूष,सीता परिणय,पार्वती परिणय,प्रह्लाद चरित्र, ध्रुव आख्यान ,करुणा पचीसी,श्रीकृष्ण जन्म आख्यान,सच्चा सरदार,विक्रम शशिकला,विक्टोरिया वियोग,श्री  रघुनाथ गुण कीर्तन,प्रताप पदावली,सतनामी भजन माला ,कंस वध

पंडित बंशीधर शर्मा  – हीरु की कहानी(छत्तीसगढ़ी भाषा का पहला उपन्यास),विश्वास का फल(हिंदी नाटक),गजेंद्र मोक्ष

गिरिवार दास  वैष्णव – छत्तीसगढ़ी सुनाज

पंडित द्वारिका प्रसाद त्रिपाठी विप्र –कुछू कांही, राम अउ केवट संग्रह, कॉग्रेस विजय आल्हा, शिव स्तुति, गाँधी गीत, फागुन गीत, डबकत गीत, सूरज गीता,क्रांति प्रवेश, पंचवर्षीय योजना गीत, गोस्वामी तुलसीदास(जीवनी), महाकवि कालिदास कृति, छत्तीसगढ़ साहित्य को डॉ विनय पाठक की देन

प्यारेलाल गुप्ता –प्राचीन छत्तीसगढ़, बिलासपुर वैभव, एक दिन, रतिराम का भाग्य सुधार, पुष्पहार, लवंगलता, फ्रांस राज्यक्रांति के इतिहास,ग्रीस का इतिहास,पंडित लोचन प्रसाद पांडेय

कोदूराम दलित – सियानी गोठ, कनवा समधी, अलहन, दू मितान, हमर देस, कृष्ण जन्म ,बाल निबंध, कथा कहानी ,छत्तीसगढ़ी शब्द भंडार अउ लोकगीत

श्यामलाल चतुर्वेदी – बेटी के बिदा, पर्रा भर लाई, भोलवा भोलाराम बनिस, राम बनबास

हरी ठाकुर –

(हिंदी काव्य ) नए स्वर, लोहे का नगर ,अँधेरे के खिलाफ, मुक्ति गीत , पौरुष: नए सन्दर्भ, नए विश्वास के बादल,

(छत्तीसगढ़ी काव्य) छत्तीसगढ़ी गीत अउ कविता,जय छत्तीसगढ़ ,सुरता के चंदन,शहीद वीर नारायण सिंह, धन का कटोरा, बानी हे अनमोल, छत्तीसगढ़ी के इतिहास पुरुष, छत्तीसगढ़ गाथा

डॉ नरेन्द्र देव वर्मा – अपूर्वा(गीत संग्रह), सुबह की तलाश(उपन्यास)

नारायण लाल परमार –

(उपन्यास)प्यार की तलाश ,छलना ,पूजामयी

(काव्य संग्रह ) कंवर भर धुप, रोशनी का घोषणा पत्र, खोखले शब्दों के खिलाफ, सब कुछ निस्पंद है, कस्तूरी यादें, विस्मय का वृन्दावन

(छत्तीसगढ़ी साहित्य) सोन के माली, सुरुज नहीं मरे, मतवार अउ, दूसर एकांकी

Join Our whatsapp group and download our app for daily notification and updates


Related Post
Welcome to cgpsc.info

हमारे एंड्राइड अप्प को डाउनलोड करने के लिए नीचे दिए प्ले स्टोर आइकॉन पर क्लिक करें- धन्यवाद